चीन की 'धमकी' से डरा जापान ,नही देगा अमेरिका और हांगकांग के मुद्दे पर उनका साथ देखिये पूरी खबर...

चीन की 'धमकी' से डरा जापान ,नही देगा अमेरिका और हांगकांग के मुद्दे पर उनका साथ देखिये पूरी खबर...

चीन की 'धमकी' से डरा जापान ,नही देगा अमेरिका और हांगकांग के मुद्दे पर उनका साथ देखिये पूरी खबर...

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट में आज हम आपके लिए देश-विदेश की कुछ ऐसी खबर लेकर आए हैं जिसे पढ़कर आप संतुष्ट हो जाएंगे दोस्तों आपको पता है कि चीन और हांगकांग के मुद्दे में अब जापान शामिल नहीं होगा क्योंकि जापान इसलिए शामिल नहीं होगा चाइना ने कुछ नींदआत्मक पत्र भेजे हैं और जापान को सूचित किया है 

वह इस मुद्दे से दूर रहे। आपको बता दूं चीन में नए राष्ट्रीय कानून को लेकर शब्द रूप से उनके खिलाफ कुछ नींदआत्मक बयानों को जारी किया है जिसे उन्होंने अमेरिका और हांगकांग और इनके साथ अन्य सभी देशों से अलग हो गए हैं और वह अब इस अभियान का हिस्सा नहीं रहे और अधिक जानकारी के लिए अब इस पोस्ट को अंत तक पढ़े ताकि आपको पूरी जानकारी मिल सके।


दोस्तों राइटर के मुताबिक ब्रिटेन अमेरिका और कनाडा ने चीन द्वारा 28 मई को पारित नहीं राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर नींदआत्मक बयान दिया है उन्होंने कहा है कि स्वतंत्रता के लिए खतरा होगा और आपको बता दूं कि उन्होंने यह भी कहा कि यह चीन और ब्रिटिश के 1984 के समझौते को भांग कर देना के समान है इसलिए उन्होंने इसने सुरक्षा कानून को गलत बताया और उसकी निंदा की।

दोस्तों आपको बता दूं कि टोक्यो ने भी चीन के नए सुरक्षा कानून पर अपना बयान जारी किया है और उन्होंने अलग से 28 मई के बाद एक बयान में कहा यह चीन के लिए बड़ी ही गंभीर समस्या उत्पन्न कर सकता है जिससे उनको काफी नुकसान भी हो सकता है

हांगकांग की स्वतंत्रता खतरे में आ सकती है 

दोस्तों बीजिंग ने भी चाइना को यह कहा है कि इससे हांगकांग की स्वतंत्रता खतरे में आ सकती है चाइना के लिए इसने सुरक्षा कानून पर अभियान करना बहुत ही समस्या की बात है परंतु अब बीजिंग ने इस अभियान में से अपना नाता तोड़ लिया है और वह भी इससे अलग हो गया है

MUST READ:-15 अगस्त तक आ जायेगा सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट , जल्द ही और इस महीने से होगी स्कूल खोलने की प्रकिर्या चालू...

दोस्तों आपको बता दूं कि चाइना के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने जापान के दौरे पर आना था परंतु क्रोना की वजह से वह स्थगित कर दिया गया है इसलिए जापान ने इस अभियान का हिस्सा बनने से इंकार कर दिया है क्योंकि उनके चाइना के साथ काफी मधुर सम्बन्ध हैं जिससे वह खोना नहीं चाहते इसलिए उन्होंने इस अभियान का हिस्सा बनने से साफ साफ मना कर दिया है और सबसे अलग हो गए हैं दोस्तों क्रोमा की वजह से शी जिनपिंग जापान का दौरा स्थगित कर दिया गया है।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताएं ताकि हम आपको आगे भी ऐसे ऐसे जानकारी देते रहें जो आपको बेहद ही अच्छी लगेंगे


THANKS DOSTO

No comments

Powered by Blogger.